डिजिटल ईकोसिस्टम को बढ़ावा देने के लिए वर्चुअल समिट का आयोजन

डिजिटल ईकोसिस्टम को बढ़ावा देने के लिए वर्चुअल समिट का आयोजन

कोलकाता: किराना व्यापारियों के स्थानीय ईको-सिस्टम को और बेहतर बनाने की पहल के तहत आईटीसी लि. ने ‘किराना दुकानों को डिजिटल सक्षम बनानेके विषय पर एक वर्चुअल समिट का आयोजन किया।

वर्चुअल समिट का उद्देश्य रीटेलरों को रीटेल मैनेजमेंट की बेहतरीन प्रक्रियाओं से अवगत कराना, उनका कौशल विकास करना, उन्हें डिजिटल ईकोसिस्टम से परिचित करवाना था।

इसके साथ ही आईटीसी ने डिजिटल समाधान उपलब्ध करवाए, जो कि कंपनी द्वारा विशेष तौर पर विकसित किए गए हैं। यह समाधान आने वाले सालों में रीटेलरों को आगे बढ़ने और उनके व्यापार को बरकरार रखने में मदद भी करेंगे।

हाल ही में आयोजित इस वर्चुअल समिट को ज़बरदस्त प्रतिक्रिया देखने को मिला और इसमें देश भर के 1504 (एक हजार पांच सौ चार) रीटेलर शामिल हुए। एक विशेष प्लेटफॉर्म पर आयोजित इस रीटेल मैनेजमेंट लाइव स्ट्रीम को, सबसे ज्यादा लोगों द्वारा देखे जाने पर इसे गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी जगह मिली है।

महामारी के दौरान आईटीसी ने अपनी रिसर्च एंड डेवलपमेंट गतिविधियों में तेज़ी लाते हुए, ऐसे डिजिटल साधन विकसित किये, जिनसे रीटेलरों को भविष्य के लिए तैयार किया जा सके। अपनी तरह का यह पहला वर्चुअल इवेंट उन्हीं बहुआयामी प्रयासों का नतीजा है।

बीते सालों में कंपनी ने अपने रीटेलरों का व्यापार बढ़ाने में मदद करने हेतु कई सारी गतिविधियां शुरु की हैं, जिसमें रीटेल स्टोर में विभिन्न सुधार कराने से लेकर इन्वेन्टरी के बेहतर प्रबंधन में मदद करने वाले डिजिटल समाधान शामिल हैं। बीता वर्ष 2020 एक असाधारण दौर रहा है, जिसने कंपनी को रीटेलरों के लिए बेहतर पहल शुरु करने और उनके साथ संबंधों को और मज़बूत बनाने का मौका प्रदान किया।

हेमन्त मलिक, डिविजनल चीफ एग्ज़िक्यूटिव, फूड्स, आईटीसी लि., ने कहा, “इस महामारी ने जहां रीटेलरों की ताकत का परिचय कराया, वहीं हमें इस बात का भी एहसास हुआ है कि इस क्षेत्र में डिजिटाइजेशन कितना महत्वपूर्ण है। हम आगे भी नए डिजिटल साधन लाकर, रीटेलरों को उनका इस्तेमाल करना सिखाते रहेंगे। हम देश के रीटेलरों के लिए एक स्थाई और प्रगतिशील व्यवसायिक माहौल तैयार करने में मदद करना हमेशा जारी रखेंगे।”

संदीप सुले, डिविजनल चीफ एग्ज़िक्यूटिव, ट्रेड मार्केटिंग एंड डिस्ट्रिब्यूशन, आईटीसी लि. ने कहा, “भारत की रीटेल अर्थव्यवस्था काफी विविधतापूर्ण और बेहद प्रतिस्पर्धात्मक है। देश भर में इसकी एक बड़ी संख्या छोटे दुकानदारों की है। छोटी रीटेल दुकानों के मामले में अभी डिजिटल मुहिम का तेज़ होना काफी ज़रूरी है। ऐसे में उनकी ज़रूरत को समझते हुए हम ऐसे डिजिटल टूल्स बना रहे हैं जो इस तेज़ी से बदलती दुनिया में उनके विकास और बिज़नेस को बनाए रखने में मदद करेंगे।”

आईटीसी लि., रीटेलरों की मदद करने के लिए वर्चुअल डीएस, उन्नति ऐप और स्टोर लोकेटर जैसे कई डिजिटल समाधान विकसित किये हैं। वर्चुअल डीएस, सेल्समैन की गैरहाज़िरी के कारण होने वाले ऑर्डर के नुकसान को कम करने में मदद करता है। वहीं, उन्नति ऐप विशेष रूप से तैयार किया गया एक अत्याधुनिक रीटेलर ऐप्लिकेशन है, जिसकी मदद से दुकानदार सीधे आईटीसी लि. तक अपने ऑर्डर पहुंचा सकते हैं।

इसी तरह स्टोर लोकेटर, एक व्हाट्सऐप चैटबॉट है, जो दुकानदार और ग्राहक को जुड़ने में मदद करता है। इसकी मदद से दुकानदार को अपने ग्राहक बढ़ाने और उनके अनुभव को सुविधाजनक बनाने में मदद मिलती है। आने वाले समय में आईटीसी लि. कई और उन्नत डिजिटल टूल्स विकसित करने की योजना रखती है, जिससे प्रक्रियाओं को डिजिटल बनाने का काम तेज़ हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: