वीएलसीसी अपने कर्मचारियों और परिवारों का कोविड-19 टीकाकरण लागत वहन करेगी

वीएलसीसी अपने कर्मचारियों और परिवारों का कोविड-19 टीकाकरण लागत वहन करेगी

कोलकाता: प्रमुख वेलनेस एवं ब्यूटी सर्विसेज और प्रोडक्ट्स ब्रांड, वीएलसीसी, भारत और 13 अन्य देशों में अपने सभी 4,000 से अधिक कर्मचारियों और परिवारों का कोविड-19 टीकाकरण लागत वहन करेगी।

इस पहल के अंतर्गत, कंपनी अपने कर्मचारियों के आश्रितों को भी कवर करेगी, जो कंपनी के चिकित्सा लाभ कार्यक्रम में नामांकित हैं और सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार टीकाकरण प्राप्त करने के लिए पात्र हैं। यूएई संचालन में जहां वीएलसीसी के 12 वेलनेस एंड ब्यूटी क्लीनिक है, वहाँ पहले से ही कर्मचारियों का टीकाकरण हो गया हैं।

वीएलसीसी के अनुसार, भारत के लिए कंपनी स्वास्थ्य देखभाल श्रमिकों के रूप में 100 से अधिक शहरों में 200 से अधिक वेलनेस एंड ब्यूटी क्लीनिक का संचालन करने वाले कर्मचारियों के वर्गीकरण के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संपर्क में है।

यह उन्हें अन्य फ्रंट-लाइन श्रमिकों के अनुरूप प्राथमिकता देगा, क्योंकि ये क्लीनिक प्रतिरक्षा निर्माण समाधानों के साथ-साथ विशिष्ट पुरानी बीमारी से संबंधित वेलनेस प्रबंधन कार्यक्रमों जैसी सेवाएं दे रहे हैं, जो कि आज कोविड-19 संक्रामक को नियंत्रित करने की आवश्यकता है और  साथ ही पोस्ट-संक्रामक रिकवरी सुनिश्चित करने की आवश्यकता विशेष रूप से प्रासंगिक है।

श्रीमती वंदना लूथरा, संस्थापक और सह-अध्यक्ष, वीएलसीसी ग्रुप ने कहा, “देश भर में लॉक-डाउन कर्व्स में ढील देने के तुरंत बाद, पुरे देश में हमारे 200 से अधिक वेलनेस क्लिनिक में हमारे कर्मचारी महामारी के मद्देनजर उपभोक्ताओं को प्रतिरक्षा-निर्माण और सक्रिय स्वास्थ्य समाधान प्रदान करने में सबसे आगे  रहें है। हमारी प्राथमिकता हमारे कर्मचारियों और ग्राहकों के स्वास्थ्य की रक्षा करना है। हम टीकाकरण के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य अभियान का दृढ़ता से समर्थन करते हैं और हम अपने कर्मचारियों के साथ-साथ भारत में उनके आश्रितों के कोविड-19 टीकाकरण की लागत को कवर करेंगे, जैसा कि हम उन अन्य देशों में कर रहे हैं जहां वीएलसीसी काम कर रहा है।”

वीएलसीसी एकमात्र संगठन है, जिसके वेलनेस कार्यक्रम भारतीय मेडिकल एसोसिएशन द्वारा अनुमोदित है और वैश्विक स्तर पर इसके 4,000 से अधिक कर्मचारियों में बहुसंख्यक अनुभवी स्वास्थ्य पेशेवर हैं। इसके प्रत्येक क्लीनिक में मेडिकल डॉक्टर, न्यूट्रिशनिस्ट और फिजियोथेरेपिस्ट का स्टाफ होता है, जो सर्विस प्रोटोकॉल का प्रबंधन, पर्यवेक्षण और निष्पादन करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: