डिजीवॉलेट ने लॉन्च किया थ्रू, क्लाउड-आधारित चेक-इन समाधान

डिजीवॉलेट ने लॉन्च किया थ्रू, क्लाउड-आधारित चेक-इन समाधान

कोलकाता: लक्ज़री होटलों में आधुनिक गेस्ट-फेसिंग टेक्नोलॉजी के निर्माता डिजीवॉलेट ने होटल में आने वाले मेहमानों के लिए चेक-इन प्रक्रिया को सुगम बनाने के प्रयास में आधुनिक क्लाउड-आधारित समाधान- थ्रू का लॉन्च किया है, जिसके ज़रिए मेहमान अपनी खुद की डिवाइस से चेक-इन प्रक्रिया पूरी कर सकेंगे और इसके लिए उन्हें कोई ऐप या सॉफ्टवेयर इनस्टॉल नहीं करना पड़ेगा।

थ्रू के माध्यम से दुनिया के किसी भी हिस्से से रिमोटली चेक-इन प्रक्रिया को पूरा किया जा सकता है। इस पहल से मेहमान एवं होटल स्टाफ उन टचपॉइंट्स से बच सकेंगे, जिनके ज़्यादा संपर्क में आने की संभावना होती है। थ्रू को इस्तेमाल करना बेहद आसान है।

थ्रू के द्वारा सुनिश्चित किया जा सकेगा कि होटल के रिसेप्शन पर मेहमानों की लाईन न लगे, उनके पहचान पत्र, क्रेडिट कार्ड, फॉर्म आदि का फिज़िकल एक्सचेंज न हो। इसके ज़रिए मेहमान नीचे दिए गए चार पदों के माध्यम से चेक-इन का सुरक्षित एवं सहज अनुभव पा सकेंगे।

मेहमान के निर्धारित चेक-इन से 48 घण्टे पहले, थ्रू उन्हें एक एसएमएस भेजता है, जिसके द्वारा मेहमान को इस सर्विस के इस्तेमाल के लिए आमंत्रित किया जाता है।

लिंक को क्लिक करने के बाद, मेहमान को अपना पहचान पत्र स्कैन करना होता है, जिसका उपयोग कर थ्रू स्वचालित रूप से रजिस्ट्रेशन कार्ड फील्ड्स को भर लेता है।

इसके बाद मेहमान अपने विवरण की समीक्षा करता है, डिजिटल हस्ताक्षर करता है और सुरक्षित तरीके से पहले से निर्धारित राशि का भुगतान करता है।

एक कन्फर्मेशन कोड के द्वारा प्रक्रिया पूरी होने की पुष्टि हो जाती है। मेहमान को होटल पहुंचने पर सिर्फ यह कोड दिखाकर सैनिटाइज़्ड चाबियां लेनी होती हैं और इसके बाद वे सीधे अपने कमरे में जा सकते हैं।

थ्रू न सिर्फ मेहमानों के लिए बल्कि होटल स्टाफ के लिए भी मददगार है, यह होटल की संचालन क्षमता बढ़ाकर, मैनपवर लागत को कम करता है तथा पीक चेक-इन एवं चेक-आउट के समय रिसेप्शन एवं लॉबी में भीड़-भाड़ को रोकता है। थ्रू का बहुभाषी सहयोग सुनिश्चित करता है कि कोई भी भाषा यात्री के लिए बाधा न बने।

राहुल सलगिया, संस्थापक एवं सीईओ, डिजीवॉलेट ने कहा, ‘‘थ्रू को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि उपयोगकर्ता इसे आसानी से अपना सकें, इसका इस्तेमाल कर सकें। सम्पूर्ण ऑनलाइन साईन-अप प्रक्रिया के द्वारा इसे किसी भी होटल में मात्र 1 दिन के अंदर शुरू किया जा सकता है। इसके अलावा, थ्रू के साथ कोई एडॉप्शन शुल्क या पूर्व कैपिटल लेआउट का भुगतान नहीं करना होगा। वास्तव में थ्रू चेक-इन मॉडल में सर्विस अपने लिए खुद भुगतान करती है।“

थ्रू डिजीवॉलेट की विशेषज्ञता का इस्तेमाल करते हुए हॉस्पिटैलिटी का उत्कृष्ट अनुभव प्रदान करता है। कंपनी आधुनिक तकनीकों के साथ दुनिया भर के कुछ प्रतिष्ठित होटलों को अपनी सेवाएं प्रदान करने तथा हॉस्पिटैलिटी बाज़ार में अपने आप को और अधिक मजबूती से स्थापित करने के लिए तत्पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: